रातभर ठिठुरती रहीं लाडलियां

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय अपने विद्यार्थियों और उनकी समस्याओं को लेकर कितना असंवेदनशील है इसका प्रत्यक्ष उदाहरण शुक्रवार रात देखने को मिला। मेस फीस की वृद्धि वापस लेने के लिए छात्राएं रातभर कुलपति निवास के बाहर कुलपति का इंतजार करती रहीं, लेकिन कुलपति ने उनसे बात करना तो दूर सुबह आने का आश्वासन तक नहीं दिया। रातभर भूखी-प्यासी छात्राएं अपनी उम्मीद के साथ कुलपति के नींद से जागने का इंतजार करती रहीं। ये रात इन छात्राओं पर कितनी भारी रही, इसकी एक बानगी-

रातभर करते रहे इंतजार
मेस फीस में वृद्धि से छात्राओं के हाथ-पैर फूल गए। इस अन्याय के विरोध में और वृद्धि को वापस लेने के लिए मैं भी अन्य छात्राओं के साथ कुलपित निवास के बाहर रात भर बैठी रही। उम्मीद थी कि इतनी छात्राओं को देख कुलपति जरूर आएंगे, लेकिन रातभर हमारा इंतजार खत्म न हुआ। खाना तो दूर छात्राएं पानी के लिए भी इधर-उधर भटकती रहीं, लेकिन हमारी सुध लेने वाला कोई न था। इतना ही नहीं हॉस्टल के गेट भी आठ बजे बंद कर दिए गए।

प्रियांशी, छात्रा

सूखी लकडियों का सहारा

वैसे तो विश्वविद्यालय प्रशासन छात्र कल्याण के बड़े-बड़े दावे करता है, लेकिन रात भर भूखी और प्यासी छात्राओं की सुध लेने के लिए कोई भी नहीं आया। ऊपर से कुलपति के घर के आसपास बड़े-बड़े हरे पेड़ होने के कारण सर्दी लग रही थी। कुछ छात्राओं के पास तो स्वेटर और शॉल भी नहीं थे।
सर्दी को बढ़ता देख परिसर में सूखी लकडियों को ढूंढ कर लाए और इन्हें आग लगाकर ताप से पूरी रात काटी।

पुष्पा, छात्रा

बातें कीं, गाने गाए और नारे लगाए

मेस फीस वापस लेने की मांग को लेकर रात में भी छात्राएं एकजुट होकर बैठी रहीं। छात्राओं ने 8-8,10-10 की टोलियां बना लीं और अलाप जला कर बातें करती रहीं। गाने गा कर टाइम पास करती रहीं। इस बीच छात्राओं की टोलियोंं की ओर से कुलपति के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई, लेकिन सुनने वाला यहां कोई नहीं था।

विनीता, छात्रा

विरोध करना भी जरूरी था

मेस फीस में अचानक वृद्धि करने का विरोध करना भी जरूरी था, इस कारण मैं भी इसमें शामिल हो गई। रात को जब सर्दी के बीच हम प्रदर्शन करते रहे, लेकिन कुलपति के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। हद तो तब हो गई जब कुलपति अपने निवास से बाहर तक नहीं आए। विरोध इसलिए किया क्योंकि मामला एक दिन का नहीं था।

नेहा, छात्रा

जयपुर के स्कूल में 'पोर्न' एसएमएस,125 मोबाइल जब्त!

जयपुर। 'पोर्न' एमएमएस को लेकर जयपुर के एक सरकारी स्कूल की प्रतिष्ठा दाव पर लगी हुई है। कथिततौर पर इस स्कूल की कुछ स्टूडेंट्स का अश्लील वीडियों बनाकर उन्हें ब्लैकमेल किया जा रहा है और स्कूल प्रशासन मामले को दबाने में लगा है। स्कूल से करीब 125 मोबाइल हैंडसेट जब्त किए जा चुके हैं,लेकन मामला अब भी स्कूल और स्कूल स्टूडेंट्स के बीच ही दफन करने की कोशिशें हो रहीं हैं और पुलिस को अभी तक काई सूचना नहीं दी गई है। 

सूत्रों के अनुसार जयपुर के चौमूं कस्बे में स्थित इस सरकारी स्कूल में पिछले कुछ दिनों से कथित एमएमएस को लेकर स्टूडेंट्स में दो गुट बने हुए हैं। एक गुट के अनुसार कुछ स्टूडेंट्स ने स्कूल की ही लड़कियों के अश्लील एमएमएस बना रखे हैं और उन्हें ब्लैकमेल कर रहे हैं। इसी वजह से इनमें कई बार घमासान भी हो चुका है। स्कूल में करीब 1500 गल्र्स-बॉयज एकसाथ पढ़ते हैं और यह क्षेत्र का सबसे प्रतिष्ठित स्कूल माना जाता है।

125 मोबाइल जब्त,पुलिस को खबर नहीं

कथित स्कूल स्टूडेंट्स की अश्लील क्लिपंग की आशंका के चलते दो दिन पूर्व स्कूल प्रशासन ने स्कूल से करीब 125 मोबाइल जब्त किए। लेकिन मामला दबाने के लिए सोमवार देर शाम तक पुलिस को कोई खबर तक नहीं दी। स्कूल प्रशासन ने जब्त मोबाइल अभीतक नहीं लौटाए हैं और न ही कथित एमएमएस को लेकर कोई खंडन किया है।

पहले पैरेंट्स को फिर पुलिस को खबर
स्कूल के प्रींसिपल श्यामलाल शर्मा के अनुसार स्टूडेंट्स के बीच एमएमएस को लेकर हुए झगड़े की जांच की जा रही है यदि ऎसा कुछ मिला तो पहले पैरेंट्स और फिर पुलिस को जानकारी दी जाएगी। उधर,चौमूं थानाघिकारी राजेन्द्र सिंह का कहना है कि रविवार को सीएलजी की बैठक में स्कूल के एमएमएस पर सुगबुगाहट तो थी,लेकिन किसी ने अभी तक सीधे तौर पर पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी है।

’’प्रशासन शहरों के संग अभियान’’ 21 नवम्बर से

जयपुर। प्रशासन शहरो के संग अभियान 2012 की पूर्व तैयारियों के शिविर नगर निगम जयपुर 29 अक्टूबर से 08 नवम्बर तक सभी जोनल कार्यालयों में कार्यालय समय के दौरान आयोजित करेगा। प्रशासन शहरों के संग अभियान 21 नवम्बर 2012 से 25 दिसम्बर 2012 तक जारी रहेगा।
       
नगर निगम जयपुर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जगरूप सिंह यादव ने बताया कि पूर्व तैयारी शिविर विद्याधर नगर जोन में 29,30 व 31 अक्टूबर को सिविल लाईन जोन में 31 अक्टूबर व 1 नवम्बर 2012 को मानसरोवर जोन में 31 अक्टूबर एवं 1 नवम्बर 2012 को सांगानेर जोन मे 29 व 30 अक्टूबर को मोतीडूंगरी जोन में 5 व 6 नवम्बर को हवामहल पूर्व जोन मे 7 व 8 नवम्बर को हवामहल पश्चिम जोन में 5 व 6 नवम्बर को आमेर जोन में 29व30 अक्टूबर को आयोजित किए जायेंगे।

शिविरों में राज्य सरकार द्वारा कच्ची बस्तीयों/आवासीय योजनाओं में नियमन के संबंध में महत्वपूर्ण निर्णय लेकर भूखण्डों/कॉलोनियों के नियमितिकरण में आ रही कई बाधाओं को दूर कर शिथिलता प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार पूर्व तैयारी शिविरों का नगर निगम द्वारा आयोजन किया जा रहा है। पूर्व तैयारी शिविरों में प्राप्त आवेदनों परिवादों का पंजीयन कर पंजीयन संख्या दी जायेगी। जिससे आवेदक अभियान के दौरान अपने कार्य की प्रगति के संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

यादव ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रशासन शहरों के संग अभियान के दौरान कच्ची बस्ती भूखण्डों का आवंटन, नियमन, पट्टे देने पर स्टेट ग्रान्ट एक्ट के तहत पट्टे देने के लिए, खांचा भूमि आवंटन, भूखण्डों के  बढ़े हुए क्षेत्रफल के नियमन, भवन मानचित्र अनुमोदन तथा लीज राशि नगरीय विकास कर पर ब्याज की छूट किराये पर दिये गये भूखण्ड, स्थल, दुकानों के नियमन में आ रही कई बाधाओं को दूर कर शिथिलता प्रदान की गई है।

उन्होंने बताया कि अभियान में पट्टा विलेख निष्पादन हेतु अवधि पार दस्तावेजों को रीवेलीडेट कर पंजीयन के लिए नियमन राशि पर मुद्रांक शुल्क ही देय होगा साथ ही भू पट्टी के क्षेत्रफल को 100 वर्गगज के स्थान पर अभियान के दौरान 150 वर्गगज तक बढाया गया है।

यादव ने कहा कि अभियान में निर्धारित कार्यों के निष्पादन के लिए राजस्थान सरकार द्वारा डेडीकेटेड कन्सल्टेन्टों का चयन किया गया है। आवेदन पत्र एवं आवेदन पत्र के साथ दस्तावेजों की औपचारिकता के लिए डेडीकेट कन्सल्टेन्ट सहयोग हेतु उपलब्ध रहेंगे।

उन्होंने बताया कि कच्ची  बस्ती नियमन, स्टेट ग्रान्ट एक्ट के पट्टे, आवासीय निर्माण, किराये पर दिये गये भूखण्ड, दुकान के नियमन के आवेदन पत्र के साथ आवश्यक दस्तावेजों में पति पत्नी के तीन संयुक्त फोटो, मकान का नजरी नक्शा, कब्जे के साक्ष्य के दस्तावेजों की सत्यप्रतिलिपि छाया प्रति, शपथ पत्र फोटो सहित तथा अन्य वांछित दस्तावेजों की सत्यापित छायाप्रति लगाना आवश्यक होगा। उन्हांने कहा कि भवन मानचित्र अनुमोदन एवं स्ट्रीप ऑफ लैण्ड के लिए आवेदन पत्र के साथ में सवमित्व के दस्तावेजों व नजरी नक्शे, वांछित दस्तावेजों की छायाप्रति संलगन करना आवश्यक होगा।
   
जगरूप सिंह यादव ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा प्रदत्त उपरोक्त  छूट सभी प्रकरणों में आवेदन पत्र 25 दिसम्बर 2012 से पूर्व प्रस्तुत करने पर ही देय है। 25 दिसम्बर के बाद  कोई आवेदन पत्रअभियान के संदर्भ में छूट बाबत स्वीकार नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आमजन के लिए प्रशासन शहरों के संग अभियान के दौरान छूट उठाने का यह सुनहरा अवसर है।

जयपुर फुटबॉल लीगःएसएमएस ने आर्मी को हराया

जयपुर। एस एम एस स्टेडियम पर आयोजित जयपुर जिला फुटबाल चैम्पियनषिप (स्कूल लीग) के पहले मैच में गुरूवार को एस एम एस स्कूल ए ने आर्मी स्कूल को 2-0 से  हराया।  एस एम एस स्कूल की और से एक-एक गोल मनन और निखिल ने किये और आर्मी स्कूल को मैच 2-0 से हराकर अपने नाम किया।
   
द्वितीय मैच राजस्थान फुटबॉल एकडमि और स्टे-बाई-स्टेप के बीच मे खेल गया इस मैच में राजस्थान फुटबॉल एकडमि की टीम की ओर से गोलकिपर ऑवर ऐज खिलाडी जतिन को मैच में खिलाने पर विरोधी टीम ने प्रोटेस कर दिया। इस मैच मे राजस्थान फुटबॉल एकडमि 5-1 से जीत रही थी किन्तु इस मैच को फैसला कल टुर्नामेन्ट अनुषासन समिति के द्वारा किया जायेगा।



कल दिनांक 26-10-2012 को निम्न मैच खेले जायेगें।

Date
Team
Time
Venue
26-10-2012
S J Public School V/s SMS School A
2:00 PM
SMS School
26-10-2012
Army School V/s ASM (FC)
3:00 PM
SMS Stadium
26-10-2012
SMS Stadium A V/s MSBSS A
4:0 0PM
SMS Stadium

Rahul Bajaj shoots solid 67 to triumph in Jaipur

Jaipur. Rahul Bajaj of Noida won the fifth and final PGTI Feeder Tour event of the 2012 season which was played at the Rambagh Golf Club in Jaipur. Bajaj shot a solid three-under-67 in the final round on Thursday to end up with a total score of six-under-204. Mandeo Singh Pathania of the Jaypee Greens Golf Resort, Greater Noida and Chandigarh's Akshay Sharma shared second place with identical totals of three-under-207.

Aditya Raj Kumar Chauhan of the Golden Greens Golf & Country Club, Gurgaon, won the PGTI Feeder Tour Order of Merit title for 2012. Chauhan, who missed the cut in Jaipur, topped the Order of Merit with earnings of Rs. 123,325. He has now earned a full card for the 2013 PGTI season. Anil Bajrang Mane of Mumbai finished second on the Order of Merit with earnings of Rs. 119,550.

Rahul Bajaj (69-68-67), placed third after round two, became the only player in the tournament to post three under-par scores after his round of 67 on Thursday. Bajaj, who belongs to the Noida Golf Course, was a slow starter in the final round as he dropped bogeys on the second and fourth holes. The 26-year-old then rallied with birdies on the seventh, 11th, 12th and 14th. Rahul made a 20-footer on the seventh and landed it within six feet on the 12th and 14th.

Bajaj found the rough on the 15th and as a result dropped a bogey. He was in big trouble once again after a poor tee shot on the 16th but recovered well and got away with a bogey. Rahul, a silver-medalist from the 2010 Asian Games in Guangzhou, was one shot ahead of nearest rival Akshay Sharma after the 16th. The leader then consolidated his position with a 12-feet birdie putt on the 17th even as Akshay managed a birdie on the same hole.

Bajaj finally sealed his maiden professional title with an eagle on the par-5 18th hole where his second shot landed three feet from the pin. He thus finished three strokes ahead of the rest of the field.

"The birdie on the 17th was a morale-booster and gave me an edge on the final hole. I knew I had to find the green in two shots on the 18th since I was still just one shot ahead. I executed my strategy to perfection as my six-iron second shot from 210 yards landed within three feet of the flag and set up an eagle opportunity," said Rahul.

He added, "I was a lot more calm and relaxed on the course this week and that worked for me. I did not try too hard. It was great to shoot three under-par scores. This win will do wonders to my confidence. I just want to keep getting better from here on."

Akshay Sharma (64-70-73), the overnight leader, slipped to joint second place after his final round of three-over-73 that included three birdies and six bogeys.

Mandeo Singh Pathania (71-67-69) joined Akshay Sharma as the joint runner-up at three-under-207. Pathania's final round of one-under-69 included three birdies and two bogeys.

Manoj Kumar of Lucknow was placed fourth at two-under-208.

Aditya Raj Kumar Chauhan, the Feeder Tour Order of Merit champion, said, "I've been very consistent this season as all aspects of my game came together. I'm delighted to be at the top of the PGTI Feeder Tour Order of Merit at the end of the season. This achievement gives me a lot of confidence going forward. I'll now strive to make a mark on the PGTI."

Chauhan had won the second event of the 2012 Feeder Tour season in Karnal. He also posted three other top-10s during the season.





"केटी ने मुझे दीवाना बना डाला"

लंदन। अर्जेटीना के मॉडल लिआंद्रो पेना का कहना है कि वह अभिनेत्री केटी प्राइस से इसलिए अलग हुए क्योंकि वह दीवानों जैसा व्यवहार करती थीं और उन्हें भी ऎसा ही बना रही थीं।


अप्रैल में सगाई करने वाले इस जोड़े ने इस सप्ताह अलग होने की घोषणा की थी। वेबसाइट "डेलीमेल डॉट कॉम" के मुताबिक पेना ने कारस पत्रिका में दिए साक्षात्कार में अपने अलगाव की वजह बताई।

पेना के मुताबिक केटी बहुत जुनूनी हैं और उनका दिमाग सही से काम नहीं करता है इसलिए वह एक दिन घर से निकल गए।

उन्होंने कहा, ""मेरे पास करने के लिए कुछ और नहीं था। उसने मुझे दीवाना बना दिया था। मैं वापस नहीं जाऊंगा। वह बिल्कुल जुनूनी हैं। पिछले फरवरी में खूबसूरती से शुरू हुआ रिश्ता अब खत्म हो गया।""

शाही सेलिब्रेशन ऑन दशहरा

जयपुर। सिटी पैलेस प्रांगण में प्रतिवर्ष की भांति बुधवार को दषहरा उत्सव राजसी परम्परा से मनाया गया। इस उत्सव में हिज़ हाईनेस महाराजा सवाई भवानी सिंह जी के पश्चात् प्रथम बार वर्तमान हिज़ हाईनेस महाराजा सवाई पद्मनाभ सिंह जी द्वारा विधिवत दषहरा पूजा-अर्चना की गई।

उत्सव का प्रारम्भ मध्यान्ह पष्चात् 3ः45 पर षस्त्र पूजन से किया गया। इसमें राज परिवार के प्राचीन पारम्परिक अस्त्र-षस्त्रों व राजचिन्हों का पूजन महाराजा सवाई पद्मनाभ सिंह ने सिटी पैलेस के चन्द्रमहल प्रांगण में किया।

सायं 4ः45 पर सर्वतोभद्र प्रागंण में महाराजा ने राजसी वाहनों, अष्व, रथ, बग्गी, पालकी, हाथी आदि का विधिवत पूजन किया। इसके पष्चात् तारा दर्षन पर उन्होंने नीलकण्ड पक्षी के दर्षन किये। फिर वे दषहरा षोभा यात्रा के साथ सिटी पैलेस से विजयबाग दषहरा कोठी के लिए रवाना हो गये।

विजय बाग, दषहरा कोठी में हिज़ हाईनेस महाराजा सवाई पद्मनाभ सिंह जी ने षमी पूजन किया। षमी पूजन के पष्चात् षोभा यात्रा पुनः सिटी पैलेस लौटी। यहां सिरह ड्योढ़ी दरवाजे पर हिज़ हाईनेस ने श्री ठाकुर जी सीता वल्लभ जी का अर्चन कर सिटी पैलेस में प्रवेश किया।
इस अवसर पर जयपुर रियासत के सभी ठिकानेदार, जागीरदार अपनी परम्परागत वेषभूषा में सम्मिलित हुए।

महाराजा पद्मनाभ ने कहा कि ''मैं स्वर्गीय महाराजा सवाई भवानी सिंह जी के साथ सभी पूजा अर्जना और धार्मिक अनुष्ठानों में सम्मिलित होता था। अतः मैं दषहरा पूजन से पूर्णतया वाकिफ था। इसके साथ ही इस अवसर पर मैं सभी को मेरी ओर से दशहरा की शुभकामनाएं प्रेषित करता हूॅ।

Akshay Sharma holds on to the lead in round two


The cut was declared at seven-over-147. Thirty-nine professionals made the cut for the third and final round scheduled to be played on Thursday, October 25.

Akshay Sharma's (64-70) second round was dotted with five birdies, three bogeys and a double bogey. Akshay, who started from the 10th, had a brilliant first nine as he birdied the 15th, 16th and 18th to move to nine-under for the tournament. He then had a poor run from the first to the third where he made double bogey-bogey-bogey to drop four strokes. Sharma came back well with birdies on the fourth and seventh before dropping his final bogey of the day on the eighth.

Akshay said, "I had some good moments today. I chipped-in from the bunker on the fourth. I also sank a 20-footer on the 16th and landed it pretty close on the seventh and 18th. I had a rough patch on the first, second and third where I lost focus and hit some ordinary shots. I'll look to play regulation golf in order to stay ahead in the final round."

Damodar Kumawat (68-67) is placed second at five-under-135. His second round featured six birdies and three bogeys.

Rahul Bajaj of Noida is in third place at three-under-137.

नवजात कन्या को बचाने में जुटी सरकार


भरतपुर  के जिला कलेक्टर ने इसके इलाज में कोई कमी नहीं छोड़ने की बात की है।उनके अनुसार जयपुर में बच्ची के इलाज का सारा खर्च सरकार उठाएगी। फिलहाल,बच्ची के साथ उसके पिता,दादा और एक पीडिट्रिशियन को जयपुर भेजा गया है। सूत्रों के अनुसार बच्ची को देर रात किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाना है। इलाज के साथ-साथ बच्ची के पिता और दादा का खर्च भी सरकार उठाने वाली है। 

जयपुर फुटबॉल लीग:एसएमएस-सी की 5-0 से जीत

जयपुर. एस एम एस स्टेडियम पर आयोजित जयपुर जिला फुटबाल चैम्पियनषिप (स्कूल लीग) के पहले मैच मे एस एम एस स्टेडियम सी ने सन्चुरी स्र्पाेट एकडमि बी को 5-0 से हराया।  एस एम एस स्टेडियम सी के कप्तान ने देवराज सिंह राठैड ने शानदार हैट्रिक मारी। जिससे एस एम एस स्टेडियम सी ने 3-0 से बढत बनाये रखी। मैच के 40 वे मिनट में अंकुर और भास्कर ने एक एक गोल और मार कर अपनी टीम को 5-0 से विजयी बनाया।
  
द्वितीय मैच में आॅर्मी पब्लिक स्कूल ने एस जे पब्लिक स्कूल को 1-0 से हराया। आॅर्मी पब्लिक स्कूल की और से राजेष के पास पर नवदीप ने जोरदार गोल मारा। दोनो टीमें मैच के अन्त तक गोल करने का पुरजोर प्रयास करती रही लेकिन आॅर्मी पब्लिक स्कूल ने यह मैच 1-0 से जीत लिया।
तीसरे मैच में राजस्थान फुटबाॅल एकडमि ने भारती नव जीवन स्कूल को 2-1 से हराया। राजस्थान फुटबाॅल एकडमि की और से दो गोल दिव्याष ने किया। और भारती नव जीवन स्कूल की ओर से एक गोल सौरभ यादव ने किया।

एस एम एस स्कूल ग्राउड पर आयोजित जयपुर जिला फुटबाल चैम्पियनषिप (स्कूल लीग) के चैथा मैच  एस एम एस स्कूल और गोल्डन स्पेरो स्र्पोट एकडमि ने 0-0 से बराबर खेला। 
पांचवे मैच में एस एम एस स्कूल ए ने डिफेन्स स्कूल को 1-0से हराया। एस एम एस स्कूल ए की और से अभिषेक के पास पर निखिल ने जोरदार गोल मारा। दोनो टीमें मैच के अन्त तक गोल करने का पुरजोर प्रयास करती रही लेकिन एस एम एस स्कूल ए ने यह मैच 1-0 से जीत लिया।


कल दिनांक 22-10-2012 को निम्न मैच खेले जायेगें।
Date
Team
Time
Venue
22-10-2012
Bharti Nav Jivan School V/s SMS Stadium A
2:00 PM
SMS Stadium
22-10-2012
Royal Duster V/s Rajasthan Football Academy
3:00 PM
SMS Stadium
22-10-2012
ASM (SC)V/s Defance A
4:00 PM
SMS Stadium 

सोनिया गांधी और प्रोटोकोल का लफड़ा


जयपुर/ दूदू। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी पर सवाल उठाने वालों और प्रधानमंत्री को उनकी कठपुतली कहने वालो को एक और मौका मिल गया है। शनिवार को आधार कार्ड की दूसरी वर्षगांठ पर आयोजित समारोह में सोनिया सरकारी प्रोटोकोल का उल्लंघन करते दिखी,जबकि प्रधानमंत्री खुद उनके पीछे-पीछे चलते नजर आए।

एक हिंदी वेबसाइट ने समारोह का फोटो छापते हुए प्रधानमंत्री के खड़े होने पर भी सोनिया के कुर्सी पर बैठ रहने और प्रोटोकोल की धज्जियां उड़ाने की खबर का प्रमुखता से उल्लेख किया है।

बैंक क्लेरिकल परीक्षा भी अब कंप्यूटर और माउस से

जयपुर। गत वर्ष प्रारंभ हुई बैंक. संयुक्त लिखित परीक्षा के क्लेरिकल लिखित परीक्षा के प्रारूप में बड़ा परिवर्तन किया गया है। आईण्बीण्पीण्एस द्वारा 19 राष्ट्रीयकृत बैंको में नौकरी के लिए  आयोजित संयुक्त बैंक क्लर्क भर्ती परीक्षा का आयोजन नवम्बर २०११ में पहली बार किया गया था जिसमें देशभर से लगभग ३५ लाख विद्यार्थियों नें अपना भाग्य आजमाया था। इस कड़ी में अगली बैंक क्लर्क भर्ती परीक्षा की घोषणा आईण्बीण्पीण्एस द्वारा हाल ही में करी गयी है। दिसम्बर २०१२ में आयोजित होने वाली परीक्षा का इन्तज़ार परीक्षार्थियों को  साल भर से था। इस परीक्षा में तीन बड़े बदलाव किये गए हैं।

सर्वप्रथमए पात्रता में महत्वपूर्ण परिवर्तन करते हुए अभ्यार्थी का स्नातक होना अनिवार्य कर दिया गया है। गत वर्ष १० वी पास विद्यार्थी भी परीक्षा में संमलित हो सकता था लेकिन इस वर्ष से विद्यार्थी का १ अक्तूबर २०१२ तक स्नातक होना अनिवार्य है। न्यूनतम आयु योग्यता १८ वर्ष से बढाकर २० वर्ष कर दी गयी है।

दूसरा सबसे महत्त्वपूर्ण परिवर्तन ये है कि आईण्बीण्पीण्एस ने इस वर्ष से परीक्षा को कंप्यूटर आधारित कर दिया हैए इस वर्ष आयोजित की  जाने वाली परीक्षा पेपर बेस्ड  लिखित होने के स्थान पर कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा होगीण् इसका मुख्य कारण अभ्यर्थियों कि अधिकता एवं देश भर में मुख्य परीक्षायों का कम्प्यूट्रीकरण हैण् बैंक की तैयारी में निपुण संस्थान टाइम जयपुर के निदेशक श्री राहुल गुप्ता के अनुसार आधुनिक युग में यह एक अच्छा कदम हैण् एम्ण्बीण्एण् की  सभी प्रमुख परीक्षाओं का कम्प्यूट्रीकरण २००९ से प्रारंभ हो गया थाण् इससे परीक्षा परिणाम जल्दी निकल जाता है व आगे की  परीक्षाओं के लिए ज्यादा बेहतर डाटा एनालिसिस हो सकता हैण् उनके अनुसार आज के युग में हर क्षेत्र में कंप्यूटर में निपुण होना अनिवार्य हैए इसके तहत अगर परीक्षा में चयन भी एक कंप्यूटर बेस्ड  टेस्ट से होता है तो कुछ गलत नहींण् बैंको को कंप्यूटर में दक्ष कर्मचारी चाहिए व इस टेस्ट के माध्यम से बैंको को यह डर नहीं रहेगा कि कर्मचारी को कितना कंप्यूटर ज्ञान है।

परीक्षा में गत वर्ष की तरह ५ सेक्शन अंग्रेजीए गणितए तार्किक शक्तिए कंप्यूटर ज्ञान ए सामान्य.बैंक ज्ञान  ही रहेंगेण् ५० प्रश्न प्रति सेक्शन के स्थान पर ४० प्रश्न प्रति सेक्शन होंगे व समय सीमा ढाई घंटे से घटाकर दो घंटे रहेगीण् बस परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को ओण्ऍमण्आरण् शीट के स्थान पर कंप्यूटर स्क्रीन एवंम माऊस का प्रयोग करना होगाण् हालाँकि इस वर्ष जिन अभ्यर्थियों को कंप्यूटर प्रयोग में दक्षता नहीं है उनको मनोवैज्ञानिक तौर पर थोड़ी परेशानी का सामना करना पड सकता हैण् विशेषज्ञों के अनुसार कंप्यूटर का प्रयोग मात्र का ज्ञान ही परीक्षा देने के लिए पर्याप्त हैण् चूँकि परीक्षा में विषय बदलाव नहीं है इसलिए विषय विशेष तैयारी पर खास असर नहीं पड़ेगा बस विद्यार्थियों को कंप्यूटर पर मोक परीक्षा द्वारा अभ्यास करना होगा।

इस वर्ष से तीसरा मुख्य बदलाव जो  देखने को मिलेगा वह है कि सभी २० बैंको का साक्षात्कार भी संयुक्त ही होगाण् गत वर्ष देश भर से लगभग ३५ लाख अभ्यर्थियों ने भाग लिया था एवं १९ बैंक संमलित थे व लगभग ५ लाख अभ्यर्थियों को उतीर्ण घोषित किया गया थाण् गतवर्ष की लिखित परीक्षा के आधार पर अभीतक मात्र २४७०५ क्लर्क के रिक्त पद घोषित किये गए हैं ण् क्लेरिकल रिक्त पदों कि भर्ती राज्य वार की जाती है। गत वर्ष राजस्थान से लगभग ४० हजार विद्यार्थियों को उतीर्ण घोषित किया गया थाण् एक संयुक्त साक्षात्कार होने से विद्यार्थियों का ना सिर्फ समय बचेगा अपितु उसको बार बार एक ही प्रक्रिया से गुजरने कि तकलीफ का सामना भी नहीं करना पड़ेगाण् एवं हर बैंक को साक्षातकार की फीस भी नहीं देनी पड़ेगीण् संयुक्त साक्षात्कार के बाद एक ही वरीयता  सूची  जारी की जायेगी जिसके आधार पर अभ्यार्थी का उसके रैंक व पसंद के आधार पर एक ही बैंक में चयन होगाण।

मुख्य बदलाव

क्रम आधार                         पुराना पैटर्न                                 नया पैटर्न 
परीक्षा का प्रारूप              पेपर पेंसिल ओण्ऍमण्आरण् बेस्ड कंप्यूटर बेस्ड 
२ण् परीक्षा की पात्रता             दसवी पास                                 स्नातक 
३ण् न्यूनतम आयु                १८ वर्ष                                 २० वर्ष 
४ण् परीक्षा का समय             १५० मिनट ;२ १ध्२ घंटाद्ध          १२० मिनट ;२ घंटाद्ध
५ ण् प्रश्नों की संख्या                 २५० प्रश्न ;५० प्रण् ' ५ खंडद्ध         २०० प्रश्न ;४० प्रण् ' ५ खंडद्ध
६ण् सम्मिलित बैंको की संख्या १९ बैंक                                 २०. (इस वर्ष आईण्डीण्बीण्आई भी शामिलद्)


टाइम जयपुर के निदेशक के अनुसार संस्थान को कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा की तयारी कराने का १२ वर्ष का अनुभव है व लैब आदि से केंद्र सुसज्जित हैण् बैंक परीक्षा पर आधारित पैटर्न पर कंप्यूटर बेस्ड सेक्शनल टेस्ट व मौक टेस्ट करने की पूरी तयारी हो चुकी हैण् अतः यहाँ के विद्यार्थियों को किसी प्रकार कि समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगाण।

क्लेरिकल २०१२ परीक्षा का फॉर्म ओन्लाईन ही उपलब्ध होगा एवं १५ अक्टूबर से ५ नवंबर तक भरा जा सकेगाण् परीक्षा देश भर में ११२ शहरों में आयोजित कराई जायेगी जिसमे राजस्थान के ५ शहर शामिल हैं जयपुरए जोधपुरए कोटाए अजमेर एवं उदयपुरण।



वसुंधरा राजे का नई पार्टी बनाने की खबर का हडकंप

assembly polls in Rajasthan.
जयपुर। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के भाजपा छोड़कर नई पार्टी बनाने की खबर का उनके प्रबल समर्थक और पूर्व मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने पूरी तरह खंडन किया है। 

राठौड़ की सफाई के बीच जयपुर में भाजपा कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश प्रवक्ता सुनील भार्गव ने वसुंधरा राजे के नई पार्टी बनाने की खबर का खंडन किया। उन्होंने कहा कि यह शरारत पूर्ण खबर है। पूर्व पंचायती राज मंत्री कालूलाल गुर्जर और महिला मोर्चा की अध्यक्ष सुमन शर्मा ने भी राजे के नई पार्टी बनाने की बात को सीरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि इस खबर में कोई सच्चाई नहीं है।

गुरूवारीय संगीत संध्या:आदर्श सक्सेना का शास्त्रीय गायन

जयपुर। जवाहर कला केन्द्र के रंगायन सभागार में कल 18 अक्टूबर, 2012 को सायं 7.00 बजे नियमित कार्यक्रम गुरूवारीय संगीत संध्या के तहत कोटा के युवा गायक आदर्श सक्सेना शास्त्रीय गायन में राग विहाग, चारूकेशी व भजन की प्रस्तुति देंगे। इनके साथ हारमोनियम - राजेन्द्र प्रसाद बनर्जी व तबला - आकाश सक्सेना संगत करेंगे। 
गायक कलाकार आदर्श सक्सेना ने संगीत की प्रारम्भिक शिक्षा पण्डित महेश चन्द्र शर्मा से प्राप्त की। बाद में किराना घराने के ख्यात नाम गायक पण्डित अरूण भादुड़ी, कोलकाता से गायकी की बारिकियां सीखी। राजस्थान संगीत नाटक अकादमी एवं संगीत नाटक अकादमी, नई दिल्ली से स्कोलरशिप प्राप्त आदर्श सक्सेना ने देश के प्रमुख शहर कोलकाता, बैंगलोर, बनारस आदि शहरों के अतिरिक्त अमेरिका के न्यूयार्क और न्यूजर्सी शहरों में भी अपनी गायकी से श्रोताओं को प्रभावित कर प्रशंसा प्राप्त की है। 

नकबजनी की वारदात का पर्दाफाश,13 गिरफ्तार

जयपुर।  संसार चन्द्र रोड पर फाल्गुनी एन्टरप्राईजेज, तिरुपति ट्रेड सेन्टर में 28 सितम्बर को हुई नकबजनी की वारदात का खुलाशा करते हुए पुलिस ने नकबजनी मे सम्मिलित तीन नकबजनों को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस आयुक्त बी.एल. सोनी ने बताया कि नकबजनी की इस वारदात में शामिल इरफान उर्फ मुन्ना (20), मोहसीन खान (22) और शाहरूख खान (19) से पुलिस ने एक लाख 10 हजार रुपये व चोरी के रूपयों से खरीदी गई एक नई मोटरसाईकिल भी बरामद की है। उन्होंने बताया कि इनमें से इरफान ट्रेड सेंटर स्थित फाल्गुनी एन्टरप्राइजेज में ही काम करता था। उसी ने नकबजनी की इस वारदात की योजना बनायी थी। 

पुलिस उपायुक्त (उत्तर)महेन्द्रसिंह चौधरी ने बताया कि अग्रवाल फार्म मानसरोवर निवासी आलोक गुप्ता ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि 28 सितम्बर की रात उनके संसार चन्द्र रोड स्थित ऑफिस फाल्गुनी एन्टरप्राइजेज, तिरूपति ट्रेड सेंटर में पीछे की ओर से लोहे की जाली काटकर व सरिये को चौडा करके सीढियों के रास्ते ऊपर के हिस्से मे दरवाजा तोडकर नकबजन घुसे और 3 लाख 73 हजार 690 रूपये की राशि चोरी कर ले गये हैं। पुलिस ने इस पर रिपोर्ट दर्ज कर जब अनुसंधान प्रारंभ किया तो ऑफिस के ही कर्मचारी इरफान पर शक हुआ और उससे ही नकबजनी की इस वारदात का खुलाशा हुआ।

नकबजनी की इस वारदात का पर्दाफाश करने के लिये अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (उश्रर-द्वितीय) अनिल टॉक, सहायक पुलिस आयुक्त वृश्र कोतवाली जयपुर उश्रर नरपत सिह राठौड ने घटनास्थल का निरीक्षण कर जालुपुरा थानाधिकारी श्री सुरेश कुमार सांवरिया के नेतृत्व मे टीम गठित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। इस टीम ने फाल्गुनी एन्टर प्राईजेज के कर्मचारियों से गहनता से पूछताछ की तो वहीं के कर्मचारी इरफान उर्फ मुन्ना के नकबजनी मे हाथ होने के शक पर नकबजनी की वारदात का राज खुला। 

        पुलिस पूछताछ में यह सामने आया कि इरफान ने ही ऑफिस बन्द होने के बाद नाहरी का नाका निवासी अपने मित्र मोहसीन को टेलिफोन से ऑफिस मे रूपये होने की बात बताई व चोरी करने की योजना बनाई।योजना के बारे में मोहसीन ने अपने बुआ के लडके किशनगढ निवासी आमीर को बताया। आमीर शातिर नकबजन है। बाद में इरफान, मोहसीन व आमीर राणा कालेानी मे आकर मिले व तीनो ने चोरी करने की योजना अमानीशाह की दरगाह पर बनाई और तीनो मोटरसाईकिल से रात को रवाना होकर तिरूपति ट्रेड सेन्टर संसार चन्द्र रोड आ गये। मोहसीन बाहर खडा रहा व इरफान व आमीर ने फाल्गुनी एन्टर प्राईजेज के पीछे से लोहे की जाली को काटकर ऑफिस मे प्रवेश कर कैशियर की कैबिन मे रखे रूपये चोरी किये। चोरी करने के बाद तीनो आमीर के घर सांगानेर पहूंचे और रूपयों का बंटवारा किया। इरफान व मोहसीन ने अपने हिस्से मे आयी चोरी की रकम शाहरूख के पास रखवाई। बाद में इन रूपयों मे से मोहसीन व इरफान ने शाहरूख से 30 हजार रूपये वापस ले लियें और 30 हजार रूपये जमा कराकर एक नई मोटरसाईकिल यामाहा एफ0जेड0 खरीद ली। पुलिस ने इन तीनों को गिरफ्तार कर चोरी के 1 लाख 10 हजार रूपये व चोरी के रूपयों से खरीदी मोटरसाईकिल यामाहा एफ0जेड0 बरामद की है। मुलजिम आमीर व शाहरूख के भाई की पुलिस तलाश कर रही है। गिरफ्तार इन नकबजनो ंसे चोरी की और भी वारदातें खुलने की संभावना है।  

फुटबॉल लीग:सुपर स्ट्राइकर की शानदार जीत

जयपुर। जयपुर जिला फुटबॉल संघ की ओर से आयोजित फुटबॉल स्कूल लीग में बुधवार को एसएमएस स्टेडियम में पहले मैच मे सुपर स्ट्राइकर ने सन्चुरी स्पोस्ट एकेडमि को 3-0 से हराया। मैच के 13 वे मिनट में सुपर स्ट्राइकर के रजत ने एक गोल करके अपनी टीम को 1-0 से बढत दिलाई और मैच के मध्यान्तर के बाद सुपर स्ट्राइकर के रजत और अरविन्द ने एक-एक गोल मारकर आपनी टीम को 3-0 से विजयी बनाया।

द्वितीय मैच में एस एम एस स्टेडियम सी ने स्टेप बाई स्टेप सी को 5-0 से हराया। मैच के 21 वे मिनट मे एस एम एस स्टेडियम सी के कार्तिक के शानदार पास पर तरूण ने गोल कर अपनी टीम को 1-0 से बढत दिलाई और मध्यानतर के बाद मे लव, कार्तिक, अनषुमन और नोमित ने एक-एक गोल मारकर अपनी टीम को 5-0 से जीत दिलाई।

एस एम एस स्कूल ग्राउड पर आयोजित जयपुर जिला फुटबाल चैम्पियनषिप (स्कूल लीग) के पहले मैच विधा आश्रम सी ने एस एम एस स्कूल सी को 1-0 से हराया। इस मैच मे यष शर्मा के जोरदार पास पर प्रखर ने एक जोरदार गोल किया और 1-0 से बढत बनाई और यह बढत मैच के अन्त तक बरकरार रही और इस तरह विधा आश्रम सी ने यह मैच 1-0 से अपने नाम किया।

चौथे मैच में एस एम एस स्टेडियम ए ने विश्रा आश्रम ए को 2-0 से हराया। एस एम एस स्टेडियम ए की और से शुभम सिंह और गौरव हर्ष ने एक-एक गोल किये और और अपनी टीम को 2-0 से बढत दिलाई जोकि मैच के अन्त तक बरकारार रही और इस बढत के चलते एस एम एस स्टेडियम ए ने 2-0 से जीत अपने नाम की। आज के इस मैच में जतिन पाण्डेय को खेल बहुत सराहानीय रहा। गुरुवार 18-10-2012 को निम्न मैच खेले जाएंगे।

एनयूआईसीसी जयपुर में खोलेगी भारतीय कार्यालय

जयपुर। प्रतिष्ठित नेशनल यूएस इण्डिया चैम्बर ऑफ कॉमर्स (एनयूआईसीसी) शीघ्र ही भारत में अपना मुख्यालय जयपुर में खोलेगा। वाणिज्य सचिव द्वारा एनयूआईसीसी को यूनाईटेड स्टेटस् गर्वमेन्ट के वाणिज्य विभाग के सलाहकार के रूप में नियुक्त है। एनयूआईसीसी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एवं ओबामा प्रशासन, संयुक्त राज्य अमेरिका के कॉमर्स विभाग की राष्ट्रीय सलाहकार, पूर्णिमा वोरिया ने जयपुर में बताया कि अगले साल जनवरी से एनयूआईसीसी का भारतीय कार्यालय काम करना शुरु कर देगा। 

साथ ही उन्होंने यह घोषणा की है कि अपूर्व कुमार, प्रबंध निदेशक होटल क्लाक्र्स समूह को एनयूआईसीसी के निदेशक मंडल द्वारा एनयूआईसीसी का भारत प्रमुख चुना गया है। उन्होंने बताया कुमार को आतिथ्य क्षेर्त में तीन दशक से अधिक समय का अनुभव प्राप्त है एवं व्यापार जगत में नामी हस्ती है। एनयूआईसीसी के राष्ट्रीय प्रमुख के नाते देश के व्यापार को दूनिया भर में प्रोत्साहन देने में सहायक होंगे। उल्लेखनीय यह है कि चेंबर का भारतीय कार्यालय कारोबारी हितों को प्रमुखता देते हुए व्यापारिक समुदायों के हितों को सुनिश्चित करने के प्रयासों के साथ सफलतापूर्वक व्यापारिक सौदौं के लिए मंच प्रदान करेगा। यह राष्ट्रीय स्तर पर व्यापक प्रभाव लिए हुए होगा। 

कुमार ने कहा कि एनयूआईसीसी का यह निर्णय निश्चित रुप से कारोबार एवं उद्योगों को बढ़ावा देगा। उन्होंने कहा कि उन्हें भारत में एनयूआईसीसी के दायित्व को संभालने की जिम्मेदारियों के बारे में पर्याप्त जानकारी है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि इससे अमेरिका और भारत के द्विपक्षीय व्यापार को मजबूती मिलेगी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी एनयूआईसीसी के भारत - अमेरिका संबंधों को मजबूत बनाने के प्रयासों की सराहना की है। 
साथ ही साथ राजस्थान सरकार, औद्योगिक और व्यापार संस्थाओं के प्रमुखों ने भी एनयूआईसीसी के जयपुर में कार्यालय खोलने के निर्णय का स्वागत किया है। राजस्थान के उद्योग मंत्री राजेंद्र पारीक ने कहा है कि यह सर्व विदित है कि राजस्थान के औद्योगिक दिग्गजों के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। उन्होंने कहा कि अप्रेल - दिसम्बर 2010-11 में इण्डिया और यूएस के बीच द्विपक्षीय व्यापार 30 बिलियन यूएस डालर से अधिक था। उन्होंने विश्वास जताया कि एनयूआईसीसी राज्य में औद्योगीकरण को बढावा देगा। 
एनयूआईसीसी मुख्य रुप से उन विदेशी निवेशकों पर फोकस कर रही है जो भारत में अपने कारोबार के विकास में रुचि रखते है। जयपुर में एनयूआईसीसी के भारतीय मुख्यालय के जरिए साझा करने, संभावित ग्राहकों और भागीदारों के लिए प्रयास करते हुए देश और दुनिया में मुख्य विकास क्षेत्रों में नवीनतम निवेश के अवसर तलाश करेगा। 

चैंबर एक शीर्ष अंतरराष्ट्रीय व्यापार संगठनों में से एक है जो कि संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने के रूप में मान्यता प्राप्त है। अमेरिका के राजनीतिक और व्यापार जगत के नेताओं और भारत की सरकार और व्यापार जगत के उच्च स्तर के नेताओं द्वारा व्यापार और निवेश में तेजी लाने के लिए संबंधित देशों के सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों को एनयूआईसीसी के गठन में समायोजित करने का अनुरोध किया है।  एनयूआईसीसी के 2005 से अन्य मुख्यालय डेनवर, कोलोराडो (यूएसए) में स्थित है। 

Let the children decide books for themselves

DSC_0676.JPG

Jaipur."Today's parents decide what a child has to buy and they are basically interested in text books. And thus even if a child wants to read fairytales and folktales, he is not able to do so," said the experts at the panel discussion on 'Do Today's Child like to read Fairytales and Folktales?' held on Thursday at the Jaipur Book Fair being organised by National Book Trust at SMS Investment Ground.

"When I was a child I was interested in reading fairytales and folktales and given a chance today's children will do the same. Today, folktales are being translated into English even for those who know the language in which a particular folktale was originally written. This leads to distortion of the story and lack of fun for the readers," said Shri Prempal Sharma, noted litterateur. He however cautioned that some of the folktales are full of superstitions and can have a negative impact on children's personality. And so there is a need to make science fiction also available to them, he added.

"Generally speaking, today's children are not interested in folktales and fairytles as they are living in the world in which monsters, kings and queens are either non-existient or irrelevant. They want to read stories which are related with their lives. But when a fantasy is presented to them in a very effective manner,they like it. The success of Harry Porter is case in point," said Ms Ruchi Singh, freelance journalist and author."The tradition of writing folktales and fairytales in Hindi began in 1914. Initially these were very popular but could not touch the standard set by Hans Anderson whose stories became a success with children worldwide because they were close to the magical realities of a child's life. In contrast, in India , most of writers have weaved a world in their fairytales which are not close to the reality," she added. She observed that folktales amuse the children and also familiarise them with the geographical, social, cultural and religious aspects of other regions.

Chandidutt Shukla, feature editor, Aha! Zindagi, opined that every family should have a fixed budget for purchasing good books and magazines for children. He however lamented that even in the economically well off families , the children want to read fairytales and folktales but the parents have no time either to tell them a story or buy a book. In that case remote of a television is the easiest option available for both for the parents and the child, he added.He went further to bat for children's pleasure reading and said that forget about folk or fairy tales, let the children get to read entertaining and informative tales first.

Charanjeet Dhillon, Director, Bal Bhawan Jaipur, said that children want to read folktales and fairytale and even most of the grown ups do."Children are inquisitive by nature and hence they want to roam into the unknown world and explore new facts," she added. She however wanted that children's authors should bring element of fun into their stories so that children continue to like them She lamented that today's folk and fairy tales brought out for children do not keep track of the socio-economic realities.

Kalpana Jain, editor, Bachchon Ka Desh, Jaipur, supported the views expressed by Ms Dhillon. She said that children like to listen and read fairytales and folktales. " Regular scientific experiments are pointing towards presence of new planets and so the world of fairytales now also appear real to the children," she said adding that a fairytale gives them relief from pressures of life as there is happy ending to every fairytale.

Shri M R Mahapatra, editor and head of National Centre for Children's Literature, a wing of National Book Trust, which organised the panel discussion felt that there is very little meaningful reading stuff for the children today and that is why they want to watch the idiot box. Many youngsters , children's authors such as Smt Sangeeta Sethi and teachers joined in the discussion.

लखनऊ घराना की ताल डूबा रंगायन

जयपुर। जवाहर कला केन्द्र के रंगायन सभागर में बुधवार की शाम वाराणसी के युवा कथक नर्तक आशीष सिंह ने खूबसूरत अंग संचालन,छोटे-छोटे तोड़े टुकड़े गत निकास, गत भाव और ठुमरी पर भावों की अभिव्यक्ति से लखनऊ घराने के कथक नृत्य की उम्दा प्रस्तुति दी। लखनऊ घराने की इस मनमोहक प्रस्तुति में पूरा रंगायन सभागार कला समुंदर में डूब गया और दर्शक आनंद की लहरों से मदहोश हो गए। 

आशीष के साथ तबले पर पं. कौशल कुमार कान्त, गायन एवं हारमोनियम पर पं. आनन्द मिश्रा, बोल-पढं़त में वसुन्धरा शर्मा और सितार पर हरिहर शरण भट्ट ने संगत कर कार्यक्रम को ओर भी प्रभावी बना दिया। 

गुरु संगीता सिन्हा और सरला नारायण गुप्ता के युवा शिष्य आशीष सिंह ने कार्यक्रम का प्रारम्भ 'शिव वंदना' से किया। इसके  बाद इन्होने तीन ताल में विलम्बित लय में थाट, उठान आमद, आमद परन, 2-3 तिहाइ की प्रस्तुति दी। इसी कड़ी में इन्होने मध्यलय में बादल, वर्षा और बिजली के भावों की सुर, लय और ताल के साथ अभिव्यक्ति दी। जिसकी दर्शको ने करतब ध्वनि कर भरपूर दाद दी। 
कार्यक्रम की अगली कड़ी के रूप में आशीष ने द्रुतलय में परन, प्रिमलू, गत के साथ ठुमरी 'सब बनठन आई श्याम प्यारी रे......' में भावों की अभिव्यक्ति ने दर्शकों का मन मोह लिया। कार्यक्रम का समापन राम भजन 'श्री राम चन्द्र कृपालु भजमन.....' की प्रस्तुति से किया। गुरूजनों द्वारा बताये नृत्य में ठहराव के सबक को आशीष ने पूरी सिद्दत के साथ प्रस्तुत करने की कोशिश की।  

फ्राइडे थियेटर में शुक्रवार को 'रिहर्सल'

जवाहर कला केन्द्र के रंगायन सभागर में कल 5 अक्टूबर, 2012 को निममित कार्यक्रम फ्राइडे थियेटर के तहत अलसना रंग थियेटर सोसायटी के रंग कर्मियों द्वारा 'रिहर्सल' नाटक का मंचन किया जायेगा। इसका लेखन लक्ष्मीकान्त वैष्णव ने तथा निर्देशन युवा रंगकर्मी असलम कुरैशी ने किया है। नाटक में उजागर किया जायेगा कि कैसे एक नाटक को तैयार करने मेें कलाकार को किन-किन परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है और उसके सामने कौन-कौनसी समस्याये आती है। प्रति व्यक्ति प्रवेश शुल्क 20 रूपये के टिकट से होगा। 

राज्यपाल तक पहुंची राजस्थानी गीतांजलि

जयपुर। गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर की कालजयी कृति गीतांजली का राजस्थानी अनुवाद राजस्थान की राज्यपाल माग्रेट आल्वा के पास पहुंचा। आल्वा ने कहा कि पुस्तक का काव्यात्मक राजस्थानी अनुवाद एक सराहनीय प्रयास है। उन्हें इस पुस्तक की प्रथम प्रति लेखक इकराम राजस्थानी ले भेंट की। इस मौके पर राजकुमारी दीया कुमारी गेस्ट ऑफ ऑनर थी।

राज्यपाल ने कहा कि गीतांजलि विश्वभर में जानी पहचानी जाती है। मूलत: बंगाली में रचित गीतांजलि का अनेक भाषाओं में अनुवाद हुआ है। उन्होंने कहा कि अनुवाद से आम जन को साहित्यक रचना का अध्ययन करने में आसानी होती है। राजस्थानी में अनुवाद से इस कृति को बहुत से लोग पढ़ पायेंगें। उन्होंने आगे कहा कि वे लगातार कला, संस्कृति और साहित्य से संबंधित किसी भी गतिविधि का सदैव समर्थन करेगी।

राजकुमारी दिया कुमारी ने भी कहा कि गुरुदेव की रचना गीतांजलि के छंद अपनी संवेदनशीलता और रचनात्मक गहराई के लिए जाने जाते है, इन्हें किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है। अब इस उत्कृष्ट कृति का राजस्थानी भाषा में पद्यमय अनुवाद किया गया है। मुझे यकीन है कि अब इस रचना के संदेशों का राजस्थान में भी विस्तार हो सकेगा।

कवि इकराम राजस्थानी ने Óअंजलि गीता रीÓ से कुछ काव्य अंशों का अपने सस्वर द्वारा पाठ किया और वहा उपस्थित कला प्रेमीयों का दिल जीत लिया। उन्होंने बताया कि किस प्रकार से माइकल जैक्सन को अपने अंतिम दिनों में गीतांजलि पढऩे से मन की शांति मिली। उन्होंने इस पुस्तक के प्रकाशन के प्रायोजित करने के लिए श्री सीमेंट्स के श्री एच.एम. बांगड के प्रति अपना आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में राजस्थानी के प्रख्यात लेखक पद्मश्री सी.पी. देवल ने गीतांजलि के विभिन्न तथ्यों पर  प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि किसी भी मूल रचना की कई मायनों से व्याख्या की जा सकती है। गीतांजलि का ही यदि उदाहरण लिया जाए तो इसकी कई व्याख्याओं का विविध भाषाओं में अनुवाद किया जा चुका है।
इससे पहले, प्रभा खेतान फाउंडेशन के मैंनेजिंग ट्रस्टी, श्री संदीप भूतोडिय़ा ने कहा कि फाउंडेशन द्वारा गीतांजलि के राजस्थानी में अनुवाद का काम कराना संतोषजनक है। उन्होंने कहा कि यह वर्ष गीतांजलि का प्रकाशन का  शताब्दी वर्ष भी है। होटल आईटीसी राजपूताना के महाप्रबंधक, श्री सुनील गुप्ता ने अतिथियों का स्वागत किया। 

जयपुर में एक्सीडेंट के बहाने लूट


जयपुर। टोंक रोड पर सोमवार रात की घटना में एक्सीडेंट के बहाने मारपीट और नकदी लूट की चौकादेने वाली घटना सामने आई हैं। लूट का शिकार कानपुर निवासी ट्रक चालक उदयभान ने सांगानेर थाने में इस बाबत मामला दर्ज करवाया है।

पुलिस के अनुसार जयपुर में ऐसे शातिर लूटेरे रात को एक्सीडेंट या लिफ्ट के बहाने गाडी रुकवाते हैं और फिर लूट को अंजाम देते हैं। सोमवार की इस घटना में ट्रक रुकवाकर ड्राइवर से 24 हजार रुपए की लूट ने देर रात बाहर रहने वालों को आशंकित कर दिया है।

बाइक पर आए,ट्रक रुकवाया और लूट ले गए

कानपुर निवासी उदयभार के अनुसार टोंक रोड पर बी2 बाइपास से जब वह गुजर रहा था तो बाइक पर दो युवक आए और टक्कर मारने की बात करते हुए ट्रक रुकवाया,मारपीट की और इसी बीच जेब से 24 हजार रुपए भी पार कर ले गए।

कस्टम में नौकरी के बदले 3.38 लाख ठगे


जयपुर। दिल्ली में कस्टम डिपार्टमेंट में अच्छी नौकरी लगवाने के नाम पर एक शख्स ने जयपुर के जेपी यादव से 3.38 लाख रुपए ठग लिए। ठगी के शिकार यादव ने इस्तगासा दायर कर मंगलवार को वैशाली नगर थाने में श्रीमाधोपुर(हमीरपुर) के रामेश्वर लाल और चित्रकूट के दिनेश सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

जानकारी के अनुसार ठगी के शिकार जेपी यादव ने इन दोनों ठगों को अपने बेटों को कस्टम में नौकरी लगवाने का सौदा 7 लाख में तय किया था। यादव ने सौदे के मुताबित 3 लाख से अधिक रुपए दे भी दिए लेकिन बेटों की नौकरी की कोई बात नहीं बनी। जब नौकरी नहीं लगती दिख्री तो यादव ने अपने पैसे वापस मांगे,लेकिन आरोपियों ने न तो पैसे लौटाए और न ही सौदे के मुताबिक नौकरी लगवाई।

इटली के जोड़े की जयपुरी शादी


जयपुर। राजस्थान की राजधानी में इस विकेंड एक इटालियन जोड़ा ठेठ राजस्थानी अंदाज और मंगलाचार के बीच शादी के बंधन में बंधा। जयपुर के नजदीक सिरसी गांव में इटालियन लड़की लौरा लिजेथ(Laura Lizeth) न सिर्फ शादी के लाल जोड़े में सजी बल्कि हाथों में मेहंदी लगा कर सातफेरों से पहले सभी मंगलाचारों में शामिल हुई।

उधर,इटालियन मास्ला मारियो(Mascla Mario) भी दुल्हा बन घोड़ी पर चढ़कर दुल्हन के घर पहुंचा और जयमाला पहना कर हिंदू रिति-रिवाज से लौरा लिजेथ को अपनी पार्टनर बनाया।  


उल्लेखनीय है कि शनिवार को ही राजस्थान के जोधपुर में फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर लुल्ला की बेटी की शादी भी शाही अंदाज में सम्पन्न हुई। इस शादी में भी देश-विदेश से कई हस्तियों ने शिरकत की। बॉलीवुड के नामचीन स्टार भी इनमें शामिल थे।

वेडिंग टूरिज्म का फलता-फूलता बाजार

दुनियाभर में अपने हैरिटेज और मेहमान नवाजी से खास पहचाने वाले राजस्थान में अब कस्टम टूरिज्म या वेडिंग टूरिज्म भी फलफूलने लगा है। एनआरआईज(अप्रवासी भारतीय) के बीच में राजस्थान में वेडिंग्स पार्टी रखने के ट्रेड के साथ  अब विदेशी नागरिकों के बीच में भी इंडियन कस्टम्स के साथ ठेठ राजस्थानी अंदाज में शादी रचाने का चलन बढऩे लगा है। एनआरईजी और विदेशी जोड़ों की प्रदेश में शादियों से न सिर्फ कलचरल बल्कि कारोबारी मुनाफा भी हो रहा है। विदेशी धन से राजस्व के साथ स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिल रहा है।

कागजों में ही कर दिया गवर्नर ने उदघाटन!


जयपुर। राजस्थान की गवर्नर माग्रेट आल्वा ने मंगलवार को एक ऎसी वेबसाइट का उद्घाटन कर दिया जिसका इंटरनेट पर कोई अस्तित्व ही नहीं है। भारतीय पुरातत्व विभाग के जयपुर मंडल की यह वेबसाइट(डब्लूडब्लूडब्लू . एएसआई जयपुर . एनआईसी . आईएन) खबर लिखे जाने तक इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं हो सकी है। इस बारे में पुरातत्व विभाग ने तकनीकी गड़बड़ी खामी का हवाला देते हुए आगामी दो-तीन दिन में वेबसाइट शुरू करने की बात कही है।

उधर,राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की ओर से मंगलवार को जारी सूचना में इसका विधिवत उद्घाटन कर दिया गया। एक प्रमुख हिंदी दैनिक(राजस्थान पत्रिका नहीं) ने अपने बुधवार के अंक में इसे प्रमुखता से प्रकाशित भी कर दिया।

सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार राज्यपाल माग्रेüट आल्वा ने मंगलवार को सायं यहां राजभवन में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के जयपुर मंडल की वेबसाइट (डब्लूडब्लूडब्लू . एएसआई जयपुर . एनआईसी . आईएन) का शुभारम्भ किया।


अधिकारियों ने "पुरातत्व" को बनाया "खेल"

वेबसाइट के डोमेननेम के अस्तित्व में नहीं होने की बात पर जानकारी के लिए जब "पत्रिका डॉट कॉम" ने पुरातत्व विभाग में सम्पर्क किया तो हर कोई जवाबदेही से बचता नजर आया। हालांकि खबर प्रकाशित किए जाने के बाद विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद बसंत स्वर्णकार ने तकनीकी खामी की बात कहते हुए गलती स्वीकार की और जल्द ही वेबसाइट शुरू करने की बात कही। हालांकि जल्दबाजी में उन्होंने गलती सुधारने के बजाया पुरातत्व विभाग की साइट का मजाक बना डाला। तुरत-फुरत में उन्होंने "जयपुरबैडमिंटन डॉट इन" पर पुरातत्व विभाग का कंटेंट डाल दिया। बैडमिंटन की इस साइट पर वही खबर लिखे जाने तक वही पेज दिखाया जा रहा है जिसे राज्यपाल ने लॉन्च किया था। 

स्मारकों की जानकारी होनी थी ऑनलाइन

पुरातत्व विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद बंसत स्वर्णकार ने बताया कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के 150वें वर्ष के कार्यक्रमों की सीरीज में यह वेबसाइट शुरू की गई है। वेबसाइट में राजस्थान के संरक्षित स्मारकों के बारे में चित्र सहित जानकारी दी गई है। स्वर्णकार ने बताया कि वेबसाइट में संरक्षित स्मारक,उनके संरक्षण,व्यय,प्रकाशन के बारे में बताया गया है। हालांकि,फिलहाल इंटरनेट पर इसका कोई वजूद नहीं है।

जयपुर में गणगौर माता की सवारी के दौरान रहेगी यातायात की विशेष व्यवस्था

पुलिस उपायुक्त यातायात श्री हैदर अली जैदी ने बताया कि प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी गणगौर माता की सवारी 30 एवं 31 मार्च को साय 6 पी.एम पर न...